Search
  • Ratan Roy

हमें यीशु का जन्मदिन क्यों नही मनाना चाहिए ? और यदि मनाना चाहिए तो क्यों ?


हमें यीशु का जन्मदिन क्यों नही मनाना चाहिए ? और यदि मनाना चाहिए तो क्यों ?


हमें यीशु का जन्मदिन इसलिये नही मनाना चाहिए क्योंकि ये परमेश्वर की आज्ञा नहीं और ना बाइबल इसके बारे में बताती हैं और ना ही क्रिसमस शब्द बाइबल में हैं तो हम किस आधार पर यीशु का जन्मदिन मनाये ? 


(इसलिये खाने-पीने या पर्व या नए चाँद, या सब्त के विषय में तुम्हारा कोई फैसला न करे। कुलुस्सियों 2:16‭-‬18)



# मेरे विचार से यीशु का जन्मदिन विश्वासियों के लिए नहीं परन्तु अविश्वासियों के लिए चिन्ह हैं ये समय सुसाचार देने का बहुमूल्य अवसर है विश्वासियों के लिए तथा सेवकों के लिए। इस दिन को अपने लिये इस्तेमाल नहीं करके दूसरों के लिए करें जिनके हृदय में अभी तक यीशु का जन्म नहीं हुआ। यीशु का जन्म इसलिये नहीं हुआ की आप नये नये कपड़े ख़रीदे व पार्टी करे , अच्छा अच्छा खाना खाये  या फिर इस दिन  को त्यौहार जैसा उत्सव मनाये। ये दिन भोग विलास का नहीं हैं।

(क्योंकि परमेश्‍वर का राज्य खाना-पीना नहीं; परन्तु धार्मिकता और मिलाप और वह आनन्द है जो पवित्र आत्मा से होता है। रोमियों 14:17 )



Why shouldn't we celebrate Jesus' birthday? And if we want to celebrate, then why?


We should not celebrate Jesus 'birthday because these are not God's command and neither the Bible says about it nor Christmas words are in the Bible, on what basis should we celebrate Jesus' birthday?


(So ​​do not make any decision about food or drink or the new moon, or the Sabbath. Colossians 2: 16-18)



# I think Jesus' birthday is not a mark for believers but for unbelievers. This time is a valuable opportunity to give good news to believers and to servants. Do not use this day for yourself and do it for others whose heart has not yet been born to Jesus. Jesus was not born so that you should buy new clothes and party, eat good food or celebrate this day like a festival. These days are not of luxury.


(Because the kingdom of God is not food and drink; but righteousness and reconciliation and the joy that comes from the Holy Spirit. Romans 14:17)

36 views0 comments