• Ratan Roy

परमेश्वर हमारी समस्याओं के लिए जिम्मेदार नहीं है parameshvar hamaree samasyaon ke lie jimmedaar nahi


परमेश्वर हमारी समस्याओं के लिए जिम्मेदार नहीं है ?


हमारी परस्थिति परमेश्वर को नहीं बदलती लेकिन परमेश्वर हमारी परिस्थिति को बदलता है।



परमेश्वर का वचन ही हमारे सोच को बदलता परमेश्वर के प्रति।



परमेश्वर को व्यक्तिगत तौर से जानने का माध्यम है पवित्रशास्त्र बाइबल।



बाइबल ही परमेश्वर का स्वभाव चरित्र और गुण को पहचानने में सहायता करता है।





क्योंकि परमेश्‍वर की जितनी प्रतिज्ञाएँ हैं, वे सब उसी में ‘हाँ’ के साथ हैं। इसलिये उसके द्वारा आमीन भी हुई कि हमारे द्वारा परमेश्‍वर की महिमा हो।

2 कुरिन्थियों 1:20




परमेश्‍वर मनुष्य नहीं कि झूठ बोले, और न वह आदमी है कि अपनी इच्छा बदले। क्या जो कुछ उसने कहा उसे न करे? क्या वह वचन देकर उसे पूरा न करे?

गिनती 23:19



यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्‍वासयोग्य और धर्मी है।

1 यूहन्ना 1:9




तेरे जीवन भर कोई तेरे सामने ठहर न सकेगा; जैसे मैं मूसा के संग रहा वैसे ही तेरे संग भी रहूँगा; और न तो मैं तुझे धोखा दूँगा, और न तुझको छोड़ूँगा।

यहोशू 1:5



तुम्हारा स्वभाव लोभरहित हो, और जो तुम्हारे पास है, उसी पर संतोष किया करो; क्योंकि उसने आप ही कहा है, “मैं तुझे कभी न छोडूँगा, और न कभी तुझे त्यागूँगा।”

इब्रानियों 13:5



यीशु मसीह कल और आज और युगानुयुग एक जैसा है।

इब्रानियों 13:8



अपनी सारी चिन्ता उसी पर डाल दो, क्योंकि उसको तुम्हारा ध्यान है।

1 पतरस 5:7



वह आप ही हमारे पापों को अपनी देह पर लिए हुए* क्रूस पर चढ़ गया, जिससे हम पापों के लिये मर करके धार्मिकता के लिये जीवन बिताएँ। उसी के मार खाने से तुम चंगे हुए। (यशा. 53:4-5,12, गला. 3:13)

1 पतरस 2:24




क्योंकि मैं जानता था कि तू अनुग्रहकारी और दयालु परमेश्‍वर है, और विलम्ब से कोप करनेवाला करुणानिधान है, और दुःख देने से प्रसन्‍न नहीं होता।

योना 4:2



तेरे समान ऐसा परमेश्‍वर कहाँ है जो अधर्म को क्षमा करे और अपने निज भाग के बचे हुओं के अपराध को ढाँप दे? वह अपने क्रोध को सदा बनाए नहीं रहता, क्योंकि वह करुणा से प्रीति रखता है। वह फिर हम पर दया करेगा, और हमारे अधर्म के कामों को लताड़ डालेगा। तू उनके सब पापों को गहरे समुद्र में डाल देगा।

मीका 7:18‭-‬19



हमारे प्रभु यीशु मसीह के परमेश्‍वर, और पिता का धन्यवाद हो, जो दया का पिता, और सब प्रकार की शान्ति का परमेश्‍वर है। वह हमारे सब क्लेशों में शान्ति देता है; ताकि हम उस शान्ति के कारण जो परमेश्‍वर हमें देता है, उन्हें भी शान्ति दे सके, जो किसी प्रकार के क्लेश में हों।

2 कुरिन्थियों 1:3‭-‬4



तुम हमारे प्रभु यीशु मसीह का अनुग्रह जानते हो, कि वह धनी होकर भी तुम्हारे लिये कंगाल बन गया ताकि उसके कंगाल हो जाने से तुम धनी हो जाओ।

2 कुरिन्थियों 8:9





22 views
 

24×7 PRAYERLINE +919635521144

Copyright©2020 By www.ratanroy.com